नकल जमाबंदी खसरा आदि कैसे निकाले

भारत भारत के डिजिटल होने से अब हर योजनाएं ऑनलाइन हो गई हैं इस कारण अब भारत की सभी योजनाएं ऑनलाइन है अब अपना खाता जमाबंदी खसरा आदि को भी ऑनलाइन कर दिया गया हमारी भूमि को अब हम ऑनलाइन देख सकते हैं

अपना खाता (Apna khata) वेबसाइट के मदद से हम अपनी जमीन का नक्शा खसरा नंबर खतौनी की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं अगर हमें हमारी जमीन का नक्शा या खसरा नंबर की आवश्यकता होती है तो हमें किसी ऑफिस या पटवारी के पास जाने की जरूरत नहीं हो सकती हम ऑनलाइन ही अपना खाता वेबसाइट से अपने जमीन का नक्शा देख सकते हैं
वर्तमान स्थिति बहुत बदल चुकी है अब इंटरनेट का जमाना आ गया है इसलिए हम हमारी जमीन का नक्शा खसरा नंबर और जमीन के मालिक का नाम और कितनी जमीन है कितने क्षेत्रफल है आधी जानकारी हम आसानी से अपना खाता वेबसाइट से हम बहुत ही श्रद्धा से देख सकते हैं
अपना खाता वेबसाइट का मूल उद्देश्य यह है कि आम व्यक्ति अपने जमीन का नक्शा दे सके और यह जमीन किसके नाम है यह जान सके
और यह जानने के लिए उनको किसी ऑफिस से या पटवारी के चक्कर नहीं काटने पड़े और घर बैठे ऑनलाइन अपना खाता वेबसाइट से अपना पूरा विवरण देख सकता है

अपना खाता वेबसाइट से अभी कालाबाजारी बहुत बंद हो गई है क्योंकि अभी सारा नक्शा ऑनलाइन है और इसमें यह भी लिखा है कि यह जमीन किसकी है और कितने क्षेत्रफल की है

 तो आइए हम यह जानते हैं कि अपनी जमीन का नक्शा कैसे देखें खसरा नंबर आदि कैसे ऑनलाइन देखते हैं

जमाबंदी क्या होती है


जमाबंदी शब्द का यह मतलब होता है कि यह जमीन किसकी है और किसके नाम है जमीन का पता करने के लिए जमाबंदी शब्द का उपयोग किया जाता है यह सबसे ज्यादा करें राजस्थान हरियाणा उत्तर प्रदेश इन राज्यों में ज्यादातर उपयोग किया जाता है

जमाबंदी में जमीन का पूरा रिकॉर्ड होता है जैसे जमीन किसके नाम है खसरा नंबर जमीन का नक्शा इत्यादि देखने को मिलती है
जमाबंदी नकल से हम अपनी जमीन पर है लोन भी ले सकते हैं और जब हमारा कोई जमीन पर बीमा उठाते हैं तो उसमें भी हमारी जमीन की जमाबंदी की आवश्यकता होती है साथ ही सरकार जो भी हो जाए देती है किसानों को उसमें में जमाबंदी की आवश्यकता पड़ती है

 राजस्थान अपना खाता (Apna khata Rajathan) के क्या फायदे हैं



जैसा कि हम जानते हैं सभी चीजों को ऑनलाइन हो गई है इस कारण राजस्थान में श्रीमती वसुंधरा राजे द्वारा अपना खाता वेबसाइट का एक पोर्टल खोला गया था इसको श्रीमती वसुंधरा राजे ने ही लांच किया था इसका मुख्य उद्देश्य था कि किसानों को निम्नलिखित योजनाएं मिले

1 अपना खाता वेबसाइट की मदद से हम हमारे मोबाइल पर ही अपनी जमीन का नक्शा एवं विवरण मिनटों में ही जान सकते हैं

2 इस वेबसाइट की मदद से मालिक का नाम वह जमीन का क्षेत्रफल खाता संख्या जमीन नक्शा खसरा नंबर भू नक्शा इत्यादि की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं

3 जिस किसान को इंटरनेट के बारे में थोड़ा सा भी ज्ञान है तो वह अपनी जमीन का नक्शा एवं खसरा नंबर निकाल सकता है बिना कोई परेशानी के और जब उसको जरूरत पड़े मैं उसे काम भी ले सकता है

अपना खाता वेबसाइट से अपनी जमीन का नक्शा निकालने के लिए जरूरी जानकारी


गांव तहसील का नाम ओर जिले का नाम
आवेदक का नाम
आवेदक का पता
आवेदक का खाता संख्या
आवेदक का शहर
आवेदक का पिन कोड नंबर

अपना खाता वेबसाइट में खसरा नंबर जमाबंदी नकल आदि कैसे देखें


अगर आपके पास हमारे ऊपर दिए गए सभी जानकारी आपके पास एकदम सही सही है तो आप अपनी जमीन का खसरा नंबर जमाबंदी नकल आदि देख सकते हो

1 Step 

सबसे पहले आपको राजस्थान अपना खाता वेबसाइट को ओपन करना है अगर आपको वेबसाइट का नहीं पता तो मैं नीचे लिंक दे रहा हूं इस पर दबाकर आप अपना खाता वेबसाइट पर ओपन कर सकते हो

Rajasthan Apna khata




2 Step 

जैसे ही आप इस वेबसाइट को ओपन करोगे आपको फिर अपना जिला चुनना है

3 step 

फिर हमको हमारी तहसील का चुनाव करना है और अपने गांव का चुनाव करना है

4 step 

अब आपके सामने जमाबंदी का फॉर्म ओपन हो जाएगा उसमें मैंने जो आपको ऊपर जानकारी बताइए वह इसके अंदर भरेंगे

5 step 

सभी जानकारी मरने के बाद आपके सामने एक आपकी जमाबंदी की नकल 1.pdf के रुप में ओपन होगी  step
फिर हमको हमारी तहसील का चुनाव करना है और अपने गांव का चुनाव करना है

दोस्तों मैं आशा करता हूं की मेरे द्वारा बताए की जानकारी आपको समझ में आई होगी और आपको अपनी जमीन का नक्शा खसरा नंबर इत्यादि निकालने में कोई प्रॉब्लम नहीं है जी और अपना खाता वेबसाइट के बारे में आपको कोई प्रॉब्लम नहीं होगी अगर आपको दोस्तों फिर भी कोई आपका कोई सवाल या सजेशन है तो मुझे आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर कर जरूर बताना मैं आपको रिप्लाई जरूर करूंगा

अगर दोस्तो आपको मेरे से कांटेक्ट करना है तो कॉन्टैक्ट फॉर्म भरकर आप मेरे से कांटेक्ट कर सकते हो और इसके बारे में ज्यादा जान सकते हो
कुलदीप पवार

जय हिंद जय भारत